Featured Post

Recommended

CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services क्या है?

CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services क्या है? हैलो दोस्तों , स्वागत है आप सभी का akHelpPoint....

CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services क्या है?

CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services क्या है?

CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services क्या है?


हैलो दोस्तों , स्वागत है आप सभी का akHelpPoint.in  में।  दोस्तों आप सभी CSC VLE के लिए CSC की तरफ एक और Good News  निकलकर आई है , दोस्तों CSC Good News है की अब आप अपने CSC Digital Seva Portal से CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection का भी काम कर सकते हैं ।


CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services


CSC Passport Seva Kendra (PSK) Services में नया क्या है ?

     दोस्तों CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Verification & Documents Collection Services के पहले आप अपने CSC Digital Seva Portal से आप Passport Application Form Submission Through CSC, Passport Application Fee Payment Through CSC, Passport Office (PSK) Appointment Schedule through CSC का काम कर सकते थे लेकिन दोस्तों अब CSC के माध्यम से इन सेवाओं के साथ VLE Initial Verification के साथ Documents Upload भी कर सकेंगे। 


यह भी जाने :

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE | NDUW CSC Login Problem Solved


Passport Seva Kendra (PSK) में CSC VLE क्या करेंगे?

इस CSC Passport Seva Kendra (PSK) में जब Verification & Documents Collection Services आ जाता है तो CSC VLE पुलिस वेरिफ़िकेशन को छोड़ कर (Non-Police Verification Services) सभी Information और Documents से मिलान करने के साथ साथ Documents और Photo Upload करने का काम कर पाएंगे।  जिससे Passport Seva Kendra (PSK) से बनने  वाले Passport में लगने वाले समय में कमी आएगी और लोगो के सिर्फ Biometric Verification के लिए Passport Office जाना होगा।  


क्या CSC Vle को आगे Passport Biometric Verification – Finger Scanning का भी काम मिल सकता है?

CSC Vle को आगे Passport Biometric Verification – Finger Scanning का काम मिलने का उम्मीद बहुत कम है क्योकि Passport Biometric Verification – Finger Scanning एक बहुत ही कॉम्प्लेक्स प्रोसेस है और इसको पूरा करने के लिए बहुत ही सुरक्षित सिस्टम की ज़रूरत होती है इसलिए यह प्रक्रिया Passport Seva Kendra (PSK) द्वार ही किया जाने की उम्मीद है। 


CSC VLE Commission in Passport Seva Kendra Documents Upload and Verification Service

दोस्तों CSC Passport Seva Kendra (PSK) में Commission in Passport Seva Kendra Documents Upload and Verification Service से CSC VLE Commission की बात करे तो इस सेवा के लिए 100 रु का एक Nominal Fee लिया जायेगा। 


Note: CSC Passport Seva Kendra (CSC PSK Verification & Documents Collection Services) के Program  का Pilot उत्तर प्रदेश व हरियाणा राज्य से किया जाएगा!


e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE | NDUW CSC Login Problem Solved

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE | NDUW CSC Login Problem Solved

 CSC e-Shram Card Registration Process and Benefits | NDUW CSC Login Problem Solved


सभी CSC VLE के लिए CSC की तरफ से Good News है जिसके बारे में मैं इस पोस्ट में बताने वाला हूँ । 

Good News ये है दोस्तों की श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा CSC को एक बहुत बड़ा Project मिला है जिसका नाम NDUW Project 2021 है NDUW का पूरा नाम National Database of Unorganised Workers है इसे हिन्दी में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का राष्ट्रीय डेटाबेस है । इसे ई-श्रम (e-Shram) भी कहते हैं। e-Shram को शुरू करने का मुख्य उदेश्य है भारत देश के 38 करोड़ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार करना, जिससे भारत सरकार उन असंगठित श्रमिकों को भविष्य मे कोई लाभ दे सके और जिसमे CSC VLE अहम भूमिका निभाने वाले है.

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE | CSC NDUW Project 2021


e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


    इसमे सभी CSC VLE काम कर सकते हैं और प्रत्येक e-Shram Card Registration पर 20रु तक का Commission कमा सकतें हैं। 

               तो चलिये जानते हैं की  e-Shram Card Registration किसे करना है और CSC e-Shram Card Registration Process क्या है?

Note: CSC NDUW e-Shram Card Registration CSC Portal में 26 अगस्त 2021 से शुरू होने वाला है । 


e-Shram Card Registration किन  लोगों का होगा ?

CSC NDUW e-Shram Registration असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का करना है जैसा की नीचे कुछ असंगठित श्रमिकों का लिस्ट दिया गया है :-

  • छोटे बड़े सीमांत किसान 
  • एकृषि मज़दूरों
  • शेयर क्रोपर्स 
  • मछुवारों 
  • पशुपालन में लगे लोग 
  • बीड़ी रोलिंग 
  • लेबलिंग और पैकिंग 
  • भवन और निर्माण श्रमिक 
  • चमड़े के कर्मचारी 
  • बुनकरों 
  • बढ़ई 
  • नमक कार्यकर्ता 
  • ईंट भटठों और पत्थर की खदानों में काम करने वाले मजदूर 
  • आरा मिलों में काम करने वाले मजदूर 
  • दाइयों 
  • घरेलू श्रमिक 
  • नाइयों 
  • सब्जी और फल विक्रेता 
  • रिक्शा खिचने वाले 
  • ऑटो चालक 
  • रेशम उत्पादन कार्यकर्ता
  • टेनरी कार्यकर्ता 
  • सामान्य सेवाए केन्द्रों 
  • घर की नौकरानी 
  • सड़क विक्रेताओं
  • मनरेगा कार्यकर्ता आशा कार्यकर्ता 
  • दूध डालने वाले किसान 
  • प्रवासी मजदूरों 

यह भी जाने :

NDUW e-Shram Card Registration Requirement Documents


NDUW e-Shram Card Registration Requirement Documents नीचे दिये गए हैं और कुछ Optional Documents भी हैं :-

Mandatory

  1. Aadhaar Number
  2. Aadhaar Linked Active Mobile Number
  3. Fingerprint
  4. IRIS
  5. Bank Account Details
Optional
  1. Education Certificate
  2. Income Certificate
  3. Occupation Certificate
  4. Skill Certificate

Note: श्रमिक का उम्र 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच होना चाहिए (25/08/1961 से 24/08/2005 )


 NDUW  e-Shram Card Registration Process CSC 

Step.1 

NDUW  e-Shram Card Registration Process CSC


CSC Digital Seva Portal में Login करना है ।

Search Box में NDUW या UW type करके Search करना है और Link को Open करना है । 

Step.3 

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE

अब Registration Through CSC Digital Sevaपर Click करके login कर लेना है । 

तब आपके सामने जो Dashboard खुलेगा उसमे आपको Register New UW पर Click

 करना है । 


Step.3

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE

यहा पर श्रमिक का Aadhar Number enter करना है उसके बाद e-KYC के लिए Fingerprint, Iris या OTP को Select करना है और और Submit पर Click करके e-KYC Complete करना है , 


Step.4

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


यहाँ Declaration Box में Tick करके Continue पर Click करना है, 


Step.5

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE

यहाँ पर आपको व्यक्तिगत जानकारी (Personal Information) भरना है, जैसे - Mobile Number, Alternative Mobile Number, Email Id, Marital Status, Father Name, Social Category आदि ठीक से भर लेने के बाद Save & Continue पर Click करना है 


Step.6

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE

यहाँ पर आवासीय जानकारी (Residential Information) जैसे - House Number, State, District, Sub District.

उसके बाद  Save &  Continue पर Click करना है


Step.7

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


शैक्षणिक योग्यता (Education Qualification) Monthly Income (अगर Income Certificate उपलब्ध हो तो PDF मे upload करे Max Size: 200kb) उसके बाद उसके बाद  Save &  Continue पर Click करना है


Step.8

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


व्यवसाय  (Occupation) विवरण दर्ज करें । यदि Occupation Certificate हो तो उसे Pdf मे Upload करें । 

उसके बाद  Save &  Continue पर Click करे


Step.9

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


Bank का Details तभी देना है जब आपके Bank Account में Aadhaar Link नहीं हो अगर Link है तो उसके बाद  Save &  Continue पर Click करे । 


Step.10

e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


Declaration पर  tick कर के Submit पर Click करना है 


e Shram UAN Card Registration Process and Benefits CSC VLE


Step.11

अब Successfully NDUW e-Shram Card Registration हो चुका है अब आप इस कार्ड को Download या Print कर के लाभार्थी को दे सकतें हैं । 


Guide Video: CSC VLE e Shram Card Registration Process in Hindi



FAQ

Q. क्या e-Shram Card Registration के लिए श्रमिक को पैसे देने होंगे ?

Ans. नहीं , यह Registration बिलकुल Free है लेकिन अगर कार्यकर्ता किसी भी सुधार के लिए आता है तो उसे 20रु का भुगतान करना होगा । 

Q. क्या e-Shram UAN Card की कोई वैधता है ?

Ans. नहीं , यह Life Time के लिए है । 

Q. यदि कर्मचारी आयकर नहीं दे रहा है लेकिन रिटर्न दाखिल कर रहा है तो वह योग्य है ?

Ans. हाँ , श्रमिक इस मामले मे Register प्राप्त कर सकते हैं । 

Q. क्या कोई Helpdesk number है?

Ans. 14434 (8:00 AM to 8:00 PM Monday to Saturday)


NDUW New Project Important Links


Digital Seva Portal



National Database of Unorganised Workers e-Shram Card




Note: यदि ऊपर दिए गए लिंक से आप CSC से E Shram पोर्टल में लॉगिन नहीं कर पर रहे हैं तो आप निचे दिए गए Tips को Follow कीजिये :-

  1. पहले आप Digital seva Portal में लॉगिन कीजिये 
  2. अब अपने Browser में New  Tab Open  कीजिये 
  3. अब निचे दिए गए लिंक को copy कीजिये 
https://register.eshram.gov.in/#/cscuser/login?csc_id=Your CSC ID&email=CSC Email&state_code=State Code&fullname=First Name%20Middle Name%20Last Name

      4.  ऊपर दिए URL  को पहले Edit करना है जो निचे बताया गया है Edit होने वाले Place को Color किया गया है , बाकी किसी को चेंज नहीं करना है -

  • Your CSC ID : अपना CSC ID डालना है 
  • CSC Email : CSC में Registerd Email डालना है 
  • State Code : अपने राज्य का Code डालना है 
  • First Name : CSC में जो पहला नाम है उसे डालना है 
  • Middle name : अगर Middle नाम है तो अपना Middle Name डालना है , अगर नहीं है तो आप %20Middle Name को Remove कर देना है 
  • Last Name : यहाँ पर Last Name डालना है।  
  • अब Link को Search कीजिये आपके CSC Id से ई -श्रम पोर्टल में लॉगिन हो जायेगा 







 Blogger Site में Lazy Load Embedded YouTube Videos कैसे करें?

Blogger Site में Lazy Load Embedded YouTube Videos कैसे करें?

 Blogger में Lazy Load Embedded Youtube Videos कैसे करें?


हैलो ब्लॉगर ! क्या आपका ब्लॉग Blogger पर बना हुआ है ? अगर हाँ तो ये पोस्ट आपके लिए बहुत ही Important होने वाली है अगर आप अपने Blogger Site में Youtube Videos Embedded करते है। क्योकि मैं इस पोस्ट में आपको बताने वाला हूँ की  Blogger Site में Lazy Load Embedded Youtube Videos कैसे करें? जिससे आपके Blog के Page या Post में Youtube Videos fast Load हो और आपके Blog का Loading Speed Increase भी हो । 

     तो दोस्तों चलिये जानते हैं  Blogger Site में Lazy Load Embedded Youtube Videos कैसे करें? 

Blogger Site में Lazy Load Embedded YouTube Videos कैसे करें?


How to Lazy Load Embedded YouTube Videos in Blogger?


Default Youtube Videos Embed करने में क्या कमी हैं ?

दोस्तों कितने ब्लॉगर जब कोई Article/Post लिखतें हैं और उन्हे उस Article/Post में कोई Youtube Videos Embed करना होता है तो वो Defaut जो Blogger में Option दिया रहता है वहीं से Add कर देते हैं और उनके Blog Post का Loading Speed Down हो जाता है क्योकि  Youtube Embedded Videos का Code 'iframe ' code  होता है जो Youtube Videos को आपके Post पर  load करने में ज्यादा टाइम लगा देता है अपनी Website की Loading Speed Check करने के लिए निचे दिए link पर Click करें -

PageSpeed Insights


अगर इसकी Size  की बात करे तो या लगभग 500KB - 700KB तक ले सकता है जिसकी वजह से आपकी Website की Loading Speed 30% से 40 % Down हो जाता है।  इसका कारण ये होता है की ये जो Code है ये आपकी Youtube Videos को आपके वेबसाइट के अनुसार Optimize नहीं कर पाता है। 


अगर आपने अपने website को PageSpeed Insights पर check  किया और निचे Image दिखाए गए जैसा Error आ रहा है तो आपको इस पोस्ट में बताये गए Trick को Follow जरूर करना चाहिए इससे आपकी Site की Loading Speed जरूर बढ़ेगा। 

Default Youtube Videos Embed करने में क्या कमी हैं ?

Lazy Load Embedded Youtube Videos Code कैसे काम करेगा?

Lazy Load Embedded Youtube Videos Code आपके पोस्ट में Embedded Youtube Videos को Aapke Website के Page या Post के अनुसार Optimize करेगा और ये आपके पोस्ट में Embedded Youtube Videos को तभी Load करेगा जब आपका Visiter उस Video पर Click करेगा।  


 Blogger Site में Lazy Load Embedded Youtube Videos Code कैसे Add करें?

अपने Blogger Website में Lazy Load Embedded Youtube Videos Code Add करना चाहतें हैं तो आपको ये steps Follow करना है -


  • पहले  Blogger Dashboard Open कीजिये । 
  • Theme Menu पर क्लिक कीजिये । 
  •  Edit HTML Button पर क्लिक कीजिये 
  •  </head> tag Search कीजिये 
  • अब नीचे दिये गए Code को Copy करके के </head> पहले paste कर दीजिये । 
  • अब  Theme को Save कर दीजिये । 

Copy the below Code: Lazy Load Embedded Youtube Videos Code

<style>
.youtube-player {
  position: relative;
  padding-bottom: 56.25%;
  height: 0;
  overflow: hidden;
  max-width: 100%;
  background: #000;
  margin: 0px;
}
.youtube-player iframe {
  position: absolute;
  top: 0;
  left: 0;
  width: 100%;
  height: 100%;
  z-index: 100;
  background: transparent;
}
.youtube-player img {
  object-fit: cover;
  display: block;
  left: 0;
  bottom: 0;
  margin: auto;
  max-width: 100%;
  width: 100%;
  position: absolute;
  right: 0;
  top: 0;
  border: none;
  height: auto;
  cursor: pointer;
  -webkit-transition: 0.4s all;
  -moz-transition: 0.4s all;
  transition: 0.4s all;
}
.youtube-player img:hover {
  -webkit-filter: brightness(75%);
  -moz-filter: brightness(75%);
  filter: brightness(75%);
}
.youtube-player .play {
  height: 72px;
  width: 72px;
  left: 50%;
  top: 50%;
  margin-left: -36px;
  margin-top: -36px;
  position: absolute;
   background: url("https://upload.wikimedia.org/wikipedia/commons/b/b8/YouTube_play_button_icon_%282013%E2%80%932017%29.svg") no-repeat;
  cursor: pointer;
}
</style>

<script type='text/javascript'>
//<![CDATA[
function labnolIframe(div) {
  var iframe = document.createElement("iframe");
  iframe.setAttribute(
    "src",
    "https://www.youtube.com/embed/" + div.dataset.id + "?autoplay=1&rel=0"
  );
  iframe.setAttribute("frameborder", "0");
  iframe.setAttribute("allowfullscreen", "1");
  iframe.setAttribute(
    "allow",
    "accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture"
  );
  div.parentNode.replaceChild(iframe, div);
}
function initYouTubeVideos() {
  var playerElements = document.getElementsByClassName("youtube-player");
  for (var n = 0; n < playerElements.length; n++) {
    var videoId = playerElements[n].dataset.id;
    var div = document.createElement("div");
    div.setAttribute("data-id", videoId);
    var thumbNode = document.createElement("img");
    thumbNode.src = "https://i.ytimg.com/vi/ID/hqdefault.jpg".replace(
      "ID",
      videoId
    );
    div.appendChild(thumbNode);
    var playButton = document.createElement("div");
    playButton.setAttribute("class", "play");
    div.appendChild(playButton);
    div.onclick = function () {
      labnolIframe(this);
    };
    playerElements[n].appendChild(div);
  }
}
document.addEventListener("DOMContentLoaded", initYouTubeVideos);
//]]>
</script></div> 



अब आपको अपने Blog के Post/Article लिखते समय  इसको HTML View मे Open करना है और Youtube Video को Show कराने के लिए नीचे दिये गए Code को Copy करना है 

<div class="youtube-player" data-id="VIDEO_ID"></div> 


इसमे VIDEO_ID की जगह आप जो Youtube  Videos Embed करना चाहते हैं उस Video का सिर्फ Id Copy करके Paste करना है । 

Example: https://youtu.be/G6BzrLhkDz8

ऊपर Link मे जिसे Colour किया गया है वो VIDEO_ID है

अब आप Preview कर के देख सकते है ।  


Conclusion:


तो दोस्तो आपको समझ मे आ गया होगा की  Blogger Site में Lazy Load Embedded YouTube Videos कैसे करें? ऊपर बताए ठीक से Follow करने पर भी कोई Problem आ रहा हो तो आप हमे comment कर सकते हैं ।

उम्मीद करता हूँ आप लोगों को ये पोस्ट पसंद आया होगा और अगर आपके मन में कोई सवाल है या सुझाव है तो हमे Comment मे जरूर बताइएगा और हमारे Youtube Channel को भी Join कर लीजिये । 

Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script free Download for Blogger

Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script free Download for Blogger

Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script free Download for Blogger


हैलो ब्लॉगर, जय हिन्द ! स्वागत है akHelpPoint.in ब्लॉग में ।  ये पोस्ट इंडियन ब्लॉगर के लिए बहुत खास है। दोस्तों आप तो जानते हैं की कुछ दिन बाद "15 अगस्त 2021" का दिन आने वाला हैं और इस दिन भारत देश के सभी लोग स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं और तिरंगा झण्डा को फहराते हैं । सभी भारतीय लोग एक दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की खुशी मे बधाई देते हैं । तो  दोस्तों मैं आप लोगो के लिए इस 15 August 2021 Independence Day के दिन दोस्तों को नए तरीके से  Wish करने के लिए  Best Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script free लेकर आया हूँ। 


इस 15 August 2021, Independence Day के अवसर पर आप अपने दोस्तो को Share करेंगे तो आपके दोस्त को बहुत अच्छा लगेगा और इस Independence Day 2021 Viral Whatsapp Site को वो भी अपने दोस्तो को Share करेगा इसी तरह Share करने से आपका Website Viral हो जाएगा और अगर आप इस Happy Independence Day Wishing Script में  किसी तरह के Ad लगा के रखा है तो आप बहुत सारे पैसे कमा सकतें हैं । तो दोस्तों चलिये जानते हैं की Independence Day Viral Whatsapp Script free Download कैसे करना है और Happy Independence Day Wishing Site Free में कैसे बनाना है ।

Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script free Download for Blogger

Happy Independence Day 2021 Whatsapp Viral Site Free में कैसे बनाये?


Independence Day Wishing Website Free मे बनाने के लिए आपको नीचे दिये गए steps को Follow करना होगा । हम जो Independence Day wishing script जिस Pletform पर Install कर के बताने वालें है हैं वो है Blogger जो की Google का एक Free और  Popular Site है आप इस साइट पर Free Blog Banakar उससे पैसे भी Earn कर सकतें हैं ।  तो चलिये जनतें हैं की 15 August Independence Day 2021 viral Script Downlaod और Install कैसे करना है Step by Step... 

  1. Blogger.com पर जाएं और Sign Up कीजिए
  2. New Blog बनाए
  3. अब Blogger के Dashboard में Theme पर कीजिए।
  4. Swich to first generation classic theme पर Click कीजिए।
  5. अब Edit Html पर Click कीजिए।
  6. नीचे दिए गए Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script Download कर लीजिए।
  7. इस Code को Notepad में Open कीजिए और Code Copy कर लीजिए।
  8. अब Blogger के इस Html Box में पहले वाले Code को Remove कर के इसे Paste कर दीजिए।
  9. अब इस Code में जहां आप Footer या Heder में  ad लगा सकते हैं । 
  10. Footer में WhatsApp Share और Facebook Share वाले Link में अपने Site का Link Add कर दिजिए।
  11. अब Save कर दीजिए।



Independence Day Viral Whatsapp Script free Download


Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script
Independence Day 2021 Viral Whatsapp Script



How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post

How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post

How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post in Hindi


हैलो ब्लॉगर ! स्वागत है akHelpPoint ब्लॉग में।  यदि आपका वेबसाइट ब्लॉगर पर बना हुआ है तो आपके लिए ये पोस्ट खाश हो सकता है क्योंकि मैं इस पोस्ट में बताने वाला हूं How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post in Hindi. मैं इस पोस्ट में यह भी बताऊंगा की Automatic Source Link क्या है? Automatic Source Link को Blogger में कैसे Add करते हैं? तो चलिए जानतें हैं। 

How to Create Automatic Source Link in Blogger Post in Hindi
How to Create Automatic Source Link in Blogger Post in Hindi

How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post in Hindi



Automatic Source Link क्या है? (What is Automatic Source Link ?)


Auto Source Link वो link होता है जो आपके Blog ya Website में किसी प्रकार के Add किए Code के अनुसार Automaticaly Generate होता है और ये पोस्ट में में को बताने वाला हूं वो Blogger Site के लिए है।


Blogger Automatic Source Link कैसा होता है?


 अगर आपके मन में अभी भी ये सवाल उठ रहा है की Automatic Source Link होता कैसा है तो मैं आपको समझाने लिए मैं आपको कुछ याद दिलाने की कोशिश करता हूं । 

जब आप internet पर कुछ Search करते होंगे जैसे - Lyrics Song, Shayari, etc. तो उसे आपको कॉपी कर share करने का मन करता होगा और जब उस Text को Copy कर Paste करते होंगे तो उस Text के साथ उस पोस्ट का Source Link भी दिखाई देता होगा, ऐसा ज्यादातर WordPress पर बने कुछ Website पर होता है लेकिन आप चाहे तो इसे अपने Blogger Site में भी कर सकते हैं अपने Blogger Template में कुछ Code को Add कर के। 


यह  भी पढ़ें:

How to Add Automatic Related Post in the middle of an article on Blogger


यदि कोई भी आपके पोस्ट से किसी भी text को Copy करता है और उसे कहीं Paste करता है तो Automatic Source Link कुछ इस तरह के दिखेंगे:

Life is a song - sing it. Life is a game - play it. Life is a challenge - meet it. Life is a dream - realize it. Life is a sacrifice - offer it. Life is love - enjoy it.

Read more at https://shayarishare4u.blogspot.com/2020/05/good-morning-shayari-in-hindi-2020.html


How to add Auto Source Link to Blogger in Hindi


अपने Blogger Site में Auto Source Link Add करने के लिए आपको Blogger Template में Code Add करना होगा जो मैने नीचे दिया है ।

   यहां पर आपको दो Code मिलेंगे और दोनो Code अलग अलग तरीके से आपके Site के Post के Source Link को Show कराएगा । 

   तो आप अपने जरूरत के अनुसार किसी एक Code को Select करना है।

     इस Code को अपने Website में Add करने के लिए नीचे दिए गए steps ko Follow कीजिए:---


  1. Blogger Dashboard Open करें 
  2. Theme Menu पर Click करें 
  3.  Edit Html पर Click करें 
  4. </body> टैग को Search करें 
  5. निचे दिए गए Code में से किसी एक Code को Copy करें।  
  6. अब इस Code को </body> के ऊपर paste कर दें।  
  7. अब Theme को Save कर दें। 

Guide Video: How to Create Automatic Source Link in Blogger Post in Hindi




Create Automatic Source Link Code in Blogger Version 1.




<script type='text/javascript'>
//<![CDATA[
// Copy Text
function nocopas(){var e=window.getSelection();pagelink=" Read more : "+document.location.href,copytext=e+pagelink,newdiv=document.createElement("div"),newdiv.style.position="absolute",newdiv.style.left="-99999px",document.body.appendChild(newdiv),newdiv.innerHTML=copytext,e.selectAllChildren(newdiv),window.setTimeout(function(){document.body.removeChild(newdiv)},100)}document.addEventListener("copy",nocopas);
//]]>
</script> 


Create Automatic Source Link Code in Blogger Version 2




<script type='text/javascript'>
//<![CDATA[
!function(e,t){var n="getSelection",o="removeAllRanges",i="addRange",l="parentNode",a="firstChild",d="appendChild",r="removeChild",s="test",c="innerHTML";if(e[n]){var p,g,f,h,u,y;t.addEventListener("copy",function(C){for(g=C.target;3===g.nodeType;)g=g[l];if(h=t.createElement("div"),(p=e[n]())&&p.rangeCount&&(p=p.getRangeAt(0))&&(f=p.cloneRange(),p=p.cloneContents())){for(;u=p[a];)h[d](u);if(!/^(pre|code)$/i[s](g.nodeName||"")&&!/(^|\s)no-attribution(\s|$)/i[s](g.className||"")){var v=e.location.href;h[c]+="<br><br>&copy; "+t.title+'<br>Source: <a href="'+v+'">'+v+"</a>"}y=t.createRange(),t.body[d](h),y.selectNodeContents(h),p=e[n](),p[o](),p[i](y),setTimeout(function(){h[l][r](h),p[o](),p[i](f)})}},!1)}}(window,document);
//]]>
</script>  


Conclusion:

तो दोस्तो आपको समझ मे आ गया होगा की Automatic Source Link क्या है? Automatic Source Link को Blogger में कैसे Add करते हैं? ऊपर बताए गए जानकारी को ठीक से Follow करने पर भी कोई Problem आ रहा हो तो आप हमे comment कर सकते हैं ।

उम्मीद करता हूँ आप लोगों को ये पोस्ट पसंद आया होगा और अगर आपके मन में कोई सवाल है या सुझाव है तो हमे Comment मे जरूर बताइएगा और हमारे Youtube Channel को भी Join कर लीजिये । 

 Pegasus Spyware क्या है ? और Pegasus Spyware क्या कर सकता है ?

Pegasus Spyware क्या है ? और Pegasus Spyware क्या कर सकता है ?

Pegasus Spyware क्या है ? और Pegasus Spyware क्या कर सकता है ?

पेगासस स्पायवेयर (Pegasus Spyware ) अभी भारत के सभी News Paper , Social Media के Channel पर सुर्खियों में है । इस पर भारत के पत्रकारों के Phone की जासूसी का आरोप लगा है । अब आपके मन में ये सवाल जरूर उठ रहा होगा की ये पेगासस स्पायवेयर (Pegasus Spyware ) क्या है और पेगासस स्पायवेयर (Pegasus Spyware ) काम कैसे करता है ? पेगासस स्पायवेयर (Pegasus Spyware ) को किसने बनाया है ? पेगासस स्पायवेयर हमारी Phone की जशूशी कैसे करता है ? पेगासस स्पायवेयर कितना खतरनाक है ? और इससे कैसे बचा जा सकता है ? तो आज मैं इनहि सब सवालो का जवाब इस पोस्ट मे ले कर आया हूँ तो चलिये जानते हैं । 

Pegasus Spyware क्या है ?



Pegasus Spyware क्या है ? और Pegasus Spyware कैसे काम करता है ?


Pegasus Spyware क्या है? (What is Pegasus Spyware ?)

Pegasus Spyware एक Software है । Pegasus एक उड़ता हुआ घोडा के नाम है और spyware का मतलब जासूसी करना होता है तो आप इसके नाम से ही अंदाज़ा लगा सकते हैं की ये किस प्रकार का Software है । इस Pegasus Spyware Software से किसी भी Mobile Device (जैसे- Android or iOS Mobiles) को hack किया जा सकता है इस Software को आप Virus भी कह सकते हैं।  इस Pegasus Spyware Software को एक Israel देश के एक Company एन.एस.ओ  (NSO Group) ने Devolop किया है यह company Cyber Weapons बनाने के लिए जानी जाती है NSO Group कहती है की वो इस Pegasus Spyware Software को सिर्फ सरकार को बेचती है और इसके Misuse के लिए जिम्मेदार नहीं है और यह इसी Software के जरिये किसी भी देश में किसी भी व्यकित के Mobile को Hack करके जासूसी कर सकता है। यह Pegasus Spyware इतना खतरनाक है की यह किसी भी Mobile Phone या Android हो या Apple का iOS हो को आसानी से User के बिना Permission के Phone में Install कर सकता है । 


Pegasus Spyware  कैसे काम करता है ?

पहले Pegasus Spyware किसी Phone की जासूसी करने के लिए किसी प्रकार के Link भेजता था और जब User उस link पर Click कर देता तो उस फोन मे software Installed हो जाता था और Malware या Code के जरिये उस Phone की जासूसी होती थी लेकिन अब इनका Technology इतना आगे बढ़ गया है की अब अगर ये चाहें तो किसी भी फोन मे बिना User के Permission या कोई Message, link, Video etc. share किए ही Mobile Phone, Pegasus Spyware का शिकार हो सकता है। 


Pegasus Spyware कैसे खतरनाक है ? और क्या कर सकता है?

Israeli company  एन.एस.ओ  (NSO Group) का कहना है की वे इस Pegasus Spyware Software को सिर्फ सरकार को बेचते हैं और इस Pegasus Spyware Software का प्रयोग किसी भी आतंकवादी की जासूसी करने और पकड़ने के लिए किया जाता है ये अच्छी बात है लेकिन अगर इसका दुरुपयोग किया जाए तो ये सभी के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि ये किसी भी फोन की जासूसी कर सकता है चाहे वो फोन Android हो या फिर Apple का iOS. Pegasus Spyware आपके User के Data, Images, Videos, Mesaages, Numbers, Call Details, आदि , सभी को देख सकता है और यहाँ तक ही नहीं यह User के Call सुनने , Screenshots लेने Record करने और Camera को Controll करने मे सक्षम है। एक अन्य Report से इस बात की पुष्टि हुई है की Hacker Phone के Microphone और Camera को भी Hijack कर सकता है, इसे Real Time Surveillance मे बदल सकता है। 


How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger

Pegasus Spyware से कैसे बचे ?

Pegasus Spyware से बचने के लिए आप फोन पर आने वाली Message, Call या किसी भी तरह के लिंक पर नज़र रखें और आप उन link पर Click न करें जिन्हे आप नही जानते या नहीं समझ पा रहे हैं आपको आकर्षित करने के लिए कोई Offer या और कुछ आ सकता है तो आप उनके बहकावे में न पड़ें क्योकि ज़्यादातर Pegasus Spyware Link या Message के द्वारा ही आता है तो आप हमेशा सावधान रहें ?


Pegasus Spyware आपके Phone में है या नहीं कैसे जाने ?

अगर आप जानना चाहते हैं की Pegasus Spyware आपके Phone में है या नहीं तो इसके लिए अगर आपका Android फोन है तो आपको Setting मे जाना होगा और आपको देखना होगा की आप कौन कौन से app को SMS का permission दिया है ऐसे में अगर कोई दूसरा app तो SMS Controll नहीं कर सकता लेकिन Pegasus कर सकता है ऐसे में अगर Pegasus नाम का कोई App दिखे तो आप उसे हटा दें । 


पेगासस आपके फोन में आ गया तो कैसे हटाये ?


अगर किसी लिंक पर Click करने के वजह से या किसी भी तरह से आपके फोन में पेगासस इन्स्टाल हो जाता है तो उसे हटाने का तरीका है की आप अपने फोन को Memory को Format कर दें यहा Format करने का मतलब सभी पर्सनल डाटा को डिलीट कर दें जिसमे आपके Photos, Videos, Audio भी शामिल है इन सभी को हटाना पड़ेगा उसके बाद आप फोन को Use करें । 


How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger

How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger

How to Add Automatic Related Post in the middle of an article on Blogger

How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger

How to Add Automatic Related Post in the middle of an article in Hindi



Add Automatic Related Post in the middle of an article: हैलो Bloggers स्वागत है akHelpPoint.in में । 


यदि आपका Blog, Blogger.com/Blogspot.com पर है तो आप जानते होंगे की Blogger पर के Website में कोई Designs, Widgets, Functions आदि को Add करने केन लिए Wordpress की तरह Plugins नहीं होते है हमे जो भी कुछ करना होता है सब Manually करना पड़ता है जिसके कारण समय ज्यादा लग जाते हैं और अगर आप कोई Article लिख रहे हैं और उस article मे Related Post को Add करना है तो आपको उस Article से Related Post, Search करना पड़ता होगा और फिर उसके Title और Link को Copy कर के बारी-बारी Add करना पड़ता होगा । 


 तो दोस्तो आज मैं इसी Problem का solution इस Post में लाया हूँ इस पोस्ट में बताऊंगा How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger. तो चलिये जानते हैं ।


यह भी पढ़ें:

How to Add Automatically Create Source Link in Blogger Post in Hindi

Automatic Related Post Article के Middle में Add करने से क्या फायदे हैं?


दोस्तों अगर Automatic Related Post Article के Middle में Add करते हैं तो इससे बहुत फायदे हैं, जो निम्नलिखित है -

  1. किसी भी Article/Post में बार बार Related links Add करने की जरूरत नहीं है।
  2. आपका समय कम लगेगा पोस्ट लिखने में।
  3. यह आपके New और Old सभी Post में Show होगा।
  4. आपके Post को एक Professional Look देता है।
  5. आपके Visiters को मालूम होता है कि आपने किन किन Topics पर पोस्ट लिखी है।
  6. Related Post पर भी click होने के Chances रहते है।
  7. Related Post पर Click होने से आपके Site का Bounce Rate नहीं बढ़ेगा।
  8. आपकी Earning बढ़ेगी।

How to Add Automatic Related Post in the middle of an article on Blogger


Automatic Related Post को Article के Middle में Add करने के लिए आपको अपने Blogger Template में कुछ Code को Add करना होगा।

   Code को Add करने के लिए नीचे दिए गए Steps को Follow कीजिए -

  1. Blogger के Dashboard Open करें।
  2. Theme पर Click करके Edit Html पर Click कीजिए।
  3. Html Box में कहीं पर Click कीजिए और </head> को Search कीजिए
  4. नीचे दिए गए CSS Code 1 या CSS Code 2 किसी एक को </head> के ऊपर paste kar दीजिए।

CSS Code 1


<b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<style type='text/css'>
/* Related Post Inline */
.related-simplify{display:inline-block;position:relative;padding:0;border-radius:20px;margin:40px auto 30px auto;width:100%;box-shadow:0 0 8px -5px rgba(0,0,0,0.4)}.related-simplify h4{background:#f22830;padding:4px 15px;position:absolute;margin:0;font-size:13px;font-weight:500;color:#fff;top:-14px;left:6.8%;border-radius:99em;box-shadow:0 1px 3px rgba(0,0,0,0.1),0 1px 2px rgba(0,0,0,0.17)}.related-simplify ul{margin:0;padding:0}.related-simplify ul li{position:relative;list-style:none;padding:0;margin:auto;line-height:1.4em;transition:all .1s}.related-simplify a{display:block;color:#222;font-size:14px;font-weight:500;padding:5px 30px;text-overflow:ellipsis;overflow:hidden;white-space:nowrap;transition:all .1s}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a{margin:0 auto 20px auto;}.related-simplify ul li:first-child a{margin:25px auto 0 auto;}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a:hover,.related-simplify ul li:first-child a:hover,.related-simplify a:hover{color:#aaa;padding-left:35px}.related-simplify ul li:nth-child(n+6){display:none}
</style>
</b:if><b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<style type='text/css'>
/* Related Post Inline */
.related-simplify{display:inline-block;position:relative;padding:0;border-radius:20px;margin:40px auto 30px auto;width:100%;box-shadow:0 0 8px -5px rgba(0,0,0,0.4)}.related-simplify h4{background:#f22830;padding:4px 15px;position:absolute;margin:0;font-size:13px;font-weight:500;color:#fff;top:-14px;left:6.8%;border-radius:99em;box-shadow:0 1px 3px rgba(0,0,0,0.1),0 1px 2px rgba(0,0,0,0.17)}.related-simplify ul{margin:0;padding:0}.related-simplify ul li{position:relative;list-style:none;padding:0;margin:auto;line-height:1.4em;transition:all .1s}.related-simplify a{display:block;color:#222;font-size:14px;font-weight:500;padding:5px 30px;text-overflow:ellipsis;overflow:hidden;white-space:nowrap;transition:all .1s}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a{margin:0 auto 20px auto;}.related-simplify ul li:first-child a{margin:25px auto 0 auto;}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a:hover,.related-simplify ul li:first-child a:hover,.related-simplify a:hover{color:#aaa;padding-left:35px}.related-simplify ul li:nth-child(n+6){display:none}
</style>
</b:if> 

CSS Code 2


<b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<style type='text/css'>
/* Related Post Inline */
.related-simplify{display:inline-block;background:#fff;position:relative;padding:0;margin:36px auto 26px auto;width:100%;box-shadow:0 0 20px -5px rgba(0,0,0,0.3);transition:all 0.3s cubic-bezier(.25,.8,.25,1);border-top:2px solid #f22830}.related-simplify:hover{box-shadow:0 0 15px -5px rgba(0,0,0,0.5)}.related-simplify h4{background:#f22830;padding:4px 15px;position:absolute;margin:0;font-size:13px;font-weight:500;color:#fff;top:-14px;left:2.8%;box-shadow:0 1px 3px rgba(0,0,0,0.1),0 1px 2px rgba(0,0,0,0.17)}.related-simplify ul{margin:0;padding:0}.related-simplify ul li{position:relative;list-style:none;padding:0;margin:auto;line-height:1.4em;transition:all .3s}.related-simplify a{color:#222;font-size:14px;font-weight:500}.related-simplify a{display:block;color:#222;font-size:14px;font-weight:500;padding:5px 15px;text-overflow:ellipsis;overflow:hidden;white-space:nowrap}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a{margin:0 auto 10px auto;}.related-simplify ul li:first-child a{margin:15px auto 0 auto;}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a:hover,.related-simplify ul li:first-child a:hover,.related-simplify a:hover{color:#aaa;padding-left:18px}.related-simplify ul li:nth-child(n+6){display:none}
</style>
</b:if><b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<style type='text/css'>
/* Related Post Inline */
.related-simplify{display:inline-block;background:#fff;position:relative;padding:0;margin:36px auto 26px auto;width:100%;box-shadow:0 0 20px -5px rgba(0,0,0,0.3);transition:all 0.3s cubic-bezier(.25,.8,.25,1);border-top:2px solid #f22830}.related-simplify:hover{box-shadow:0 0 15px -5px rgba(0,0,0,0.5)}.related-simplify h4{background:#f22830;padding:4px 15px;position:absolute;margin:0;font-size:13px;font-weight:500;color:#fff;top:-14px;left:2.8%;box-shadow:0 1px 3px rgba(0,0,0,0.1),0 1px 2px rgba(0,0,0,0.17)}.related-simplify ul{margin:0;padding:0}.related-simplify ul li{position:relative;list-style:none;padding:0;margin:auto;line-height:1.4em;transition:all .3s}.related-simplify a{color:#222;font-size:14px;font-weight:500}.related-simplify a{display:block;color:#222;font-size:14px;font-weight:500;padding:5px 15px;text-overflow:ellipsis;overflow:hidden;white-space:nowrap}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a{margin:0 auto 10px auto;}.related-simplify ul li:first-child a{margin:15px auto 0 auto;}.related-simplify ul li:nth-child(n+5) a:hover,.related-simplify ul li:first-child a:hover,.related-simplify a:hover{color:#aaa;padding-left:18px}.related-simplify ul li:nth-child(n+6){display:none}
</style>
</b:if> 


5.नीचे दिए गए javascript Code को भी </head> के ऊपर Paste कर दीजिए।

JavaScript Code

<b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<script type='text/javascript'>
//<![CDATA[
// Related Post Inline
var relatedSimply = new Array(); var relatedSimplyNum = 0; var relatedUrls = new Array(); function related_results_labels(json) { for (var i = 0; i < json.feed.entry.length; i++) { var entry = json.feed.entry[i]; relatedSimply[relatedSimplyNum] = entry.title.$t; for (var k = 0; k < entry.link.length; k++) { if (entry.link[k].rel == 'alternate') {relatedUrls[relatedSimplyNum] = entry.link[k].href; relatedSimplyNum++; break;}}}} function removeRelatedDuplicates() { var tmp = new Array(0); var tmp2 = new Array(0); for(var i = 0; i < relatedUrls.length; i++) { if(!contains(tmp, relatedUrls[i])) { tmp.length += 1; tmp[tmp.length - 1] = relatedUrls[i]; tmp2.length += 1; tmp2[tmp2.length - 1] = relatedSimply[i];}} relatedSimply = tmp2; relatedUrls = tmp;} function contains(a, e) { for(var j = 0; j < a.length; j++) if (a[j]==e) return true; return false;} function printRelatedLabels() { var r = Math.floor((relatedSimply.length - 1) * Math.random()); var i = 0; document.write('<ul>'); while (i < relatedSimply.length && i < 20) { document.write('<li><a href="' + relatedUrls[r] + '">' + relatedSimply[r] + '</a></li>'); if (r < relatedSimply.length - 1) { r++; } else { r = 0;} i++;} document.write('</ul>');}
//]]>
</script>
</b:if><b:if cond='data:blog.pageType != &quot;index&quot;'>
<script type='text/javascript'>
//<![CDATA[
// Related Post Inline
var relatedSimply = new Array(); var relatedSimplyNum = 0; var relatedUrls = new Array(); function related_results_labels(json) { for (var i = 0; i < json.feed.entry.length; i++) { var entry = json.feed.entry[i]; relatedSimply[relatedSimplyNum] = entry.title.$t; for (var k = 0; k < entry.link.length; k++) { if (entry.link[k].rel == 'alternate') {relatedUrls[relatedSimplyNum] = entry.link[k].href; relatedSimplyNum++; break;}}}} function removeRelatedDuplicates() { var tmp = new Array(0); var tmp2 = new Array(0); for(var i = 0; i < relatedUrls.length; i++) { if(!contains(tmp, relatedUrls[i])) { tmp.length += 1; tmp[tmp.length - 1] = relatedUrls[i]; tmp2.length += 1; tmp2[tmp2.length - 1] = relatedSimply[i];}} relatedSimply = tmp2; relatedUrls = tmp;} function contains(a, e) { for(var j = 0; j < a.length; j++) if (a[j]==e) return true; return false;} function printRelatedLabels() { var r = Math.floor((relatedSimply.length - 1) * Math.random()); var i = 0; document.write('<ul>'); while (i < relatedSimply.length && i < 20) { document.write('<li><a href="' + relatedUrls[r] + '">' + relatedSimply[r] + '</a></li>'); if (r < relatedSimply.length - 1) { r++; } else { r = 0;} i++;} document.write('</ul>');}
//]]>
</script>
</b:if> 

6. अब <data:post.body/> को Search कीजिए और नीचे दिए गए Code से Replace कर दीजिए।

<!-- [Related post in the middle code by akhelppoint.in] -->
       
     <div expr:id='&quot;post1&quot; + data:post.id'/>
      <div class='related-simplify'>
         <b:if cond='data:post.labels'>
         <b:loop values='data:post.labels' var='label'>
         <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;item&quot;'>
            <script expr:src='&quot;/feeds/posts/default/-/&quot; + data:label.name + &quot;?alt=json-in-script&amp;callback=related_results_labels&amp;max-results=5&quot;' type='text/javascript'/>
               </b:if>
               </b:loop>
               </b:if>
               <h4>Also Read</h4>
               <script type='text/javascript'>
               removeRelatedDuplicates();
               printRelatedLabels();
            </script>
      </div>
	   <div class='ty-copy-container row' style='font-size:1px; opacity:0;'><a href='https://www.akhelppoint.in/' rel='dofollow' title='related post in the middle'>related post in the middle</a>
                    </div>
      <div expr:id='&quot;post2&quot; + data:post.id'><p><data:post.body/></p></div>
      <script type='text/javascript'>
         var obj0=document.getElementById(&quot;post1<data:post.id/>&quot;);
         var obj1=document.getElementById(&quot;post2<data:post.id/>&quot;);
         var s=obj1.innerHTML;
         var t=s.substr(0,s.length/2);
         var r=t.lastIndexOf(&quot;&lt;br&gt;&quot;);
         if(r&gt;0) {obj0.innerHTML=s.substr(0,r);obj1.innerHTML=s.substr(r+4);}
</script>
<!-- [Related post in the middle code by akhelppoint.in] -->
       
     <div expr:id='&quot;post1&quot; + data:post.id'/>
      <div class='related-simplify'>
         <b:if cond='data:post.labels'>
         <b:loop values='data:post.labels' var='label'>
         <b:if cond='data:blog.pageType == &quot;item&quot;'>
            <script expr:src='&quot;/feeds/posts/default/-/&quot; + data:label.name + &quot;?alt=json-in-script&amp;callback=related_results_labels&amp;max-results=5&quot;' type='text/javascript'/>
               </b:if>
               </b:loop>
               </b:if>
               <h4>Also Read</h4>
               <script type='text/javascript'>
               removeRelatedDuplicates();
               printRelatedLabels();
            </script>
      </div>
	   <div class='ty-copy-container row' style='font-size:1px; opacity:0;'><a href='https://www.akhelppoint.in/' rel='dofollow' title='related post in the middle'>related post in the middle</a>
                    </div>
      <div expr:id='&quot;post2&quot; + data:post.id'><p><data:post.body/></p></div>
      <script type='text/javascript'>
         var obj0=document.getElementById(&quot;post1<data:post.id/>&quot;);
         var obj1=document.getElementById(&quot;post2<data:post.id/>&quot;);
         var s=obj1.innerHTML;
         var t=s.substr(0,s.length/2);
         var r=t.lastIndexOf(&quot;&lt;br&gt;&quot;);
         if(r&gt;0) {obj0.innerHTML=s.substr(0,r);obj1.innerHTML=s.substr(r+4);}
</script>

यदि आपके टेम्प्लेट में कुछ <data:post.body/> Code है, तो Warpped Code को सावधानी से बदलें।


7. अब Save Theme पर Click कर दीजिए।

अब आपके Blogger Template में Automatic Related Post को Article के Middle में Add हो चुका है। 

आप अपने Blog के किसी भी पोस्ट को Open कर के देख लीजिए।

Guide Video: How to Add Automatic Related Post in the Middle of an article on Blogger


 



Download Code Link here :

How to Add Countdown Timer on Download Button in Blogger or WordPress Post

How to Add Countdown Timer on Download Button in Blogger or WordPress Post

How to Add Countdown Timer on Download Button in Blogger or WordPress Post


हैलो दोस्तों! अगर यदि आप एक ब्लॉगर हैं और आपका ब्लॉग Blogger या Wordpress पर है जिसमे आप कुछ ऐसे Topic पर post लिखना चाहते हैं जिसमे आपको कोई Flie Download कराना हो तो आपको ये Post जरूर पढ़ना  चाहिए । 


How to Add Countdown Timer on Download Button in Blogger or WordPress Post


How to Add Countdown Timer Download Button in Blogger or WordPress Post


 इस पोस्ट मे मैं आपको बताऊंगा How to Add Countdown Timer on Download Button in Blogger or WordPress Post और ये भी बताऊंगा की आपको Countdown Timer on Download Button क्या है? File Downloading Post मे Download Timer Button क्यो Use करना चाहिए? और Countdown Timer on Download Button को अपने Blog के पोस्ट में Countdown Timer on Download Button कैसे Add कर करना है।  


 Countdown Timer on Download Button क्या है?


Countdown Timer on Download Button किसी Blog / Website मे किसी Code द्वारा Fix किए गए Time पर Show होने वाला Button है जो आपके blog पर आने वाले Visitor को उतने Time तक Wait कराता है जितना आप Timer Set कर के रखतें है । 


ये भी पढ़ें -


Countdown Timer on Download Button Add करने से क्या फायदा है?


अगर आप अपने ब्लॉग में कोई ऐसे टॉपिक पर Post लिख रहे हैं जिसमे आपको कोई File Downlaod करने का Link देना है तो आप वहाँ पर Countdown Timer on Download Button को Add करेंगे , इससे आपको ये फायदा होंगे की जब आपके Blog पर वैसे Visiter आते हैं जीने सिर्फ Flie Download करने से मतलब है तो उन्हे भी आपके द्वरा Set किए गए Timer तक Wait करना पड़ेगा तभी उसे File Download का Button Show होगा जिससे आपके Blog के Bounce Rate कम होगा और आपकी Site की Ranking बढ़ेगी और अगर आप Download Timer को किसी दूसरे Page पर Redirect कर के रखा है तो आपके Blog Ad की Inspression भी बढ़ेगा और आपका earning Increase होगी । 

    इसलिए Blog में Countdown Timer on Download Button add करना चाहिए , नहीं तो Bounce Rate Badhegi और आपका Blog के Ranking और Earning दोनों कम हो सकती है । 


Countdown Timer on Download Button Blogger or WordPress में कहाँ Add करें?


Countdown Timer on Download Button को अपने Blog के Post में Add करने से पहले ये Decide कर लीजिये की आपको Download Timer Button कहा पर Show कराना चाहते चाहते है आप चाहे तो उसी Post में Countdown Timer Download Button Show करा सकतें है या फिर किसी और Page/Website पर Redirect करा सकतें हैं अगर आप किसी और Page / Website पर Redirect करते हैं तो आपको उस Page/Website पर भी Ad के Inspression आएंगे जिससे आपका Earning बढ़ सकती है । इसलिए आपको किसी दूसरे Page में Countdown Timer on Download Button Add करना चाहिए । 


Countdown Timer on Download Button Blogger or WordPress में कैसे Add करें?


  1. Countdown Timer on Download Button Add करने के लिए आपको New Page Create करना है 
  2. Page को Html में Open करना है 
  3. अब नीचे दिये गए Code को Download कर लेना है और Notepad / Text View में Open करना है 
  4. Code को Copy कर लेना है और आपने जो Html में page Open किया है , उसमे Paste करना है 
  5. Adsense Code Here की जगह आप Adsense के Code Add करना है 
  6. Put Your sharable Link Here की जगह Download File का Url देना है, मतलब जहां पर File को Upload किया है उसका Download Url , (जैसे- Google Drive, Mediafire, Zippyshare इत्यादि । )
  7. ये Code में 15 Second का Timer Set है अगर आप इसे change करना चाहते है तो आप 15 की जगह अपने अनुसार change कर सकतें हैं ।
  8. अब इस Page का Title दे कर Save कर देना है 
  9. अब इस page के Url को Copy करना है और आपको वापस उस Post मे आना है और Download का एक Link बनाना है और उसमे इस Url को Link कर देना है 
  10. अब Save कर देना है 

अब आपके Blog के Post में Countdown Timer on Download Button Add हो चुका है । 


Countdown Timer on Download Button Code Download

  • Demo and Download


  • Conclusion:


    तो दोस्तो आपको समझ मे आ गया होगा की Countdown Timer on Download Button Blogger or WordPress में कैसे करते हैं ऊपर बताए ठीक से Follow करने पर भी कोई Problem आ रहा हो तो आप हमे comment कर सकते हैं ।

    उम्मीद करता हूँ आप लोगों को ये पोस्ट पसंद आया होगा और अगर आपके मन में कोई सवाल है या सुझाव है तो हमे Comment मे जरूर बताइएगा और हमारे Youtube Channel को भी Join कर लीजिये ।